यूट्यूब पर हिंदी निबंध | YouTube App Par Hindi Essay

0
221

यूट्यूब के बारे में 700 शब्दों का हिंदी निबंध

essay on youtube channel in hindi 700 sabhdo ka

यूट्यूब जैसे कि हम जानते हैं कि एक ऑनलाइन वीडियो देखने वाला ऐप है। आजकल तो ये हर नई फोन में हमें देखने को मिलता है। यह सबसे ज्यादा देखे जाने वाला वीडियो ऐप है। अगर यूट्यूब की बात करें तो यह हम सब जानते हैं यह एक अमेरिकन ऐप है। ये 2005 में बना था और 2006 में इस्तेमाल किए जाने लगा।

यूट्यूब कि जानकारी तो आज कल बच्चे को भी है,आजकल छोटे से छोटे बच्चे भी इसका इस्तेमाल करते हैं कभी स्टोरी देखने के लिए तो कभी गाना तो कभी मूवी के लिए। और अगर बड़े की बात करें तो वो लोग भी इसे इस्तेमाल करते हैं। जब हम यूट्यूब का नाम सुनते हैं तो हमें लगता है कि वह एक मनोरंजन करने वाला ऐप है लेकिन ऐसा नहीं है यूट्यूब हमारे बहुत काम करें अगर उसे सही इस्तेमाल करें तो। देखा जाए तो वह बिल्कुल गूगल की तरह होता है जैसे गूगल में हमें हर चीज मिल जाती है, वैसे हमें यूट्यूब से भी बहुत कुछ प्राप्त हो सकता है। आजकल क्या नहीं मिल जाता है यूट्यूब पर गाना, मूवी, वेब सीरीज से लेकर कविता,वो हर जानकारी जो हम खीजते हैं।

अगर मस्ती की बात करे तो हमें उसपर गाना, मूवी, गेम सभी चीजे मिल जाती हैं। अगर कुछ सीखने की बात करें तो हमें बहुत सारे ऐसे चैनल मिल जाते हैं जो की नई तकनीक सिखाते हैं चाहे वह कपड़ा शिलना हो या फिर घर पर कोई काम हो। इससे हमें कुछ अमेजिंग फैक्ट्स भी मिल जाते है जो कि जानकारी के लिए बहुत अच्छी होती है।

जरूर पढ़ें:  एपीजे अब्दुल कलाम (मिसाइल मैन) पर निबंध लेखन

अगर बड़े की बात करे तो उन्हें अपने लायक भी सब चीज इसमें मिल जाएगी। टीचर से लेकर बच्चों तक के लिए यह बहुत ही जानकारी देने वाला ऐप है। अगर हमने आपसे कुछ नहीं समझ में आता है तो हम वीडियो देखकर उसे बहुत अच्छे से समझ सकते हैं। बड़े-बड़े लोग भी अपनी बातें किसके माध्यम से लोग तक पहुंच जाते हैं, वीडियो के रूप में। जो चीज हमें नेट पर कठिन लगती है वह हम इसे देखकर बहुत आसानी से समझ लेंगे। बहुत लोग तो इसे पढ़ाई के माध्यम के लिए इस्तेमाल करते हैं वह इसे देख देख कर नई बातें पर नई चीजें सीखते हैं चाहे वह पढ़ाई हो या और कुछ भी।

यूट्यूब पर पढ़ाई की बहुत सारी ज़ी ज़ी टीवी है जिसमें से बहुत कुछ पढ़ाई से रिलेटेड है। कई लोग तो यूट्यूब पर कुछ परीक्षा की तैयारियों के लिए भी इस्तेमाल करते हैं इसमें दिए गए मैटर और लेक्चर से वे बहुत कुछ सीखते हैं।

फिर वही बात हो जाती है कि अगर यह चीज हमारे लिए अच्छा है तो खराब भी है और खराब इसलिए है क्योंकि लोग इसको फिर बहुत ज्यादा इस्तेमाल करने लगते हैं बच्चे को अगर देखना शुरू करते हैं तो वह फिर फोन छोड़ते भी नहीं और इसका घर हम ज्यादा इस्तेमाल करने लगे तो यह हमारे लिए भी बहुत खराब होती है। आजकल तो हम जानते ही हैं कि सोशल मीडिया के तहत या कुछ वीडियो के तहत ही बहुत सारे गलत वीडियो या गलत न्यूज़ चलाए जाते हैं और अक्सर यह यूट्यूब पर भी होता है। हमें ध्यान रखना चाहिए कि अगर हम इसका इस्तेमाल कर भी रहे हैं तो सही मायने से करें और कुछ भी गलत चीजों के लिए इसका इस्तेमाल ना करें।

जरूर पढ़ें:  यदि मैं शिक्षक होता

यूट्यूब सीखने का एक बहुत अच्छा माध्यम है जो जानकारी हमें बहुत जगह से प्राप्त नहीं होती है यूट्यूब से मिल जाएगी। पढ़ाई के अलावा भी बहुत कुछ है यह तो लोग की परीक्षा की प्रिपरेशन में भी इस्तेमाल करते हैं। यह हमारे लिए हानिकारक तो हैं पर इसका अगर कहे कमाल किया गया तो एक बहुत अच्छा माध्यम है जिससे हमें ज्ञान की प्राप्ति हो सकती है। आजकल तो सही चीजों का भी गलत इस्तेमाल किया जाता है जैसे सोशल मीडिया हो गई, न्यूज़ हो गया। सच्ची खबर को झूठी और झूठी खबर को सच्ची बता दिया जाता है और लोग इस पर आसानी से विश्वास कर लेते हैं। लेकिन यह बहुत गलत बात है हमें समझना चाहिए हमारे लिए जो चीज बनाई गई है उसे गलत इस्तेमाल कभी ना करें। कोई भी चीज अच्छी और खराब दोनों होती है। इसका इस्तेमाल कैसे करना है ये बस हमें पता रहना चाहिए।

300 शब्दों का हिंदी निबंध यूट्यूब के बारे में

essay on youtube channel in hindi

यूट्यूब जो कि एक अमेरिकी होता है हमारे लिए बहुत है लाभदायक साबित हुआ। इसमें गेम्स के अलावा मनोरंजन पढ़ाई और ज्ञान प्राप्ति की कई चीजें हैं। इसके अलावा इसमें गूगल की तरह है बहुत जानकारी है। कई ऐसी चीजें होती है जो कि हम नेट से नहीं समझते,तो अगर हम यूट्यूब अरे देखेंगे तो हमे सायद आसानी होगी समझने में। बहुत कुछ इसमें विस्तार से समझाया जाता है और वीडियो के माध्यम से शायद हमें ज्यादा जानकारी प्राप्त हुई। एक बार बोला जाता है कि जो चीज हम देखते हैं वह चीज हमें ज्यादातर याद रहती है और ऐसा ही यूट्यूब पर होता है। जो भी चीज हम इस पर देखते हैं वो हमें ज्यादा देर तक याद रहती है।

जरूर पढ़ें:  कक्षा-2 के लिए निबंध हिंदी में कैसे लिखें?

गूगल के जैसे ही इसमें सब कुछ दिया हुआ है लेकिन यह थोड़ा भिन्न है। गूगल पर हम जो भी देखते हैं वह हम सिर्फ पढ़ पाते है, यही चीज हम यूट्यूब पर देखते है। जिससे कि हमें समझने और समझाने में बहुत आसानी होती है। ये एक अच्छा स्रोत है, तो यह बहुत खराब भी है। वह इसलिए क्यूंकि लोग इसका सही से इस्तेमाल नहीं कर पाते। अत्यधिक कोई भी चीज बहुत ही खराब होती है ऐसा हम सब जानते हैं। कोई भी चीज हमारे लिए तब खराब होती है जब हम उसका आवश्यकता से अधिक उपयोग करते हैं। प्रतिदिन हम कोई ना कोई खबर सुनते हैं या कोई ना कोई वीडियो देखते है बाद में पता चलता है कि वह गलत है या कभी कभी वो सही भी रहती है। लेकिन यह बात फैलता कौन है। हमें कोई भी चीज पर ऐसे विश्वास नहीं करना चाहिए जब तक हम खुद नहीं देख लेते और कोई भी चीज जो कि सोशल मीडिया, गूगल या फिर यूट्यूब पर रहती है बहुत जांच परख कर डालना चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here