Y और Y+ श्रेणी की सुरक्षा की जानकारी | Y or Y+ Category Security Ke Bare Hindi Mein Janiye

Y श्रेणी की सुरक्षा क्या होती है?

Y श्रेणी की सुरक्षा X श्रेणी की सुरक्षा से ऊपर की सुरक्षा होती है।Y श्रेणी की सुरक्षा उन लोगो को दी जाती है जिनकी जान को खतरा X श्रेणी की सुरक्षा दिए जाने वाले लोगो से ज़्यादा होती है।इस श्रेणी की सुरक्षा में 11 सुरक्षाकर्मी होते है  जिसमे से 2 निजी सुरक्षाकर्मी होते है और एक या दो कमांडो होते है।इस श्रेणी की सुरक्षा काफी लोगो को दी जाती है ।

Y श्रेणी की सुरक्षा क्यों दी जाती है?

Y श्रेणी ऐसे ऐसे सुरक्षाकर्मी तैनात रहते हैं जो हर तरह से किसी वी मुसीबत का सामना कर सके । उनके पास अच्छे अच्छे हथियार होते है जिस से वो एक  ढाल ki तरह काम करते हैं। ये सुरक्षा इसलिए दी जाती है ताकि को वी सेलिब्रिटी या हाई प्रोफाइल के लोग है उन्हें प्रोटेक्ट किया जा सके।

जरूर पढ़ें:  IMPS क्या है?, और इसकी पूरी जानकारी।

Y श्रेणी की सुरक्षा पाने के लिए क्या करना होता है?

Y श्रेणी की सुरक्षा पाने के लिए एप्लिकेशन देना परता है कि उन्हें ये सुरक्षा क्यों चाहिए उसके बाद कुछ खुफिया एजेंसियों द्वारा पता लगाया जाता हैं की ये सही है या नहीं और उन्हें सही में इस सुरक्षा की जरूरत है या नहीं। जब ये सब तैकीकात पूरी हो जाती है तब ही उन्हें ये सुरक्षा मुहैया करवाई जाती है और ये तब तक रहती एच जब तक उन्हें कोई डर नहीं रह जाता। 

इन श्रेणी की सुरक्षा ऐसे आम लोगो को नहीं दी जाती ये सुरक्षा बस जो लोग गवर्मेंट या सिविल्सर्वेट या वीआईपी और वीवीआईपी कैटेगरी में पाए जाते है उन  लोगों को ही दी जाती हैं।

Y+ श्रेणी की सुरक्षा क्या है?

Y+ श्रेणी की सुरक्षा भी Y श्रेणी की सुरक्षा के अंतर्गत आती है बस इस श्रेणी में सुरक्षा थोड़ी ज्यादा होती है Y श्रेणी के मुताबिक । जैसा कि हम जानते है की हाल ही में एक अविनेत्री कंगना रनाउत को Y+ श्रेणी की सुरक्षा मुहैया करवाई गई है क्योंकि उन्होंने अपने जान का खतरा महाराष्ट्र सरकार से बताया था जिसे देखते हुए हमारे गृह मंत्री ने उन्हें इस श्रेणी की सुरक्षा मुहैया करवाई जो कि 24 घण्टे उनके साथ रहेंगे। ये सुरक्षा भी उच्च वर्ग की श्रेणी में आती है । और इस सुरक्षा में जो सुरक्षाकर्मि होते एच वो पूरी तरह से प्रशिक्षित होते हैं। 

जरूर पढ़ें:  दुनिया के दस सबसे अमीर लोग

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here