WhatsApp Pay के बारे में जानकारी

0
38

आज कल हर कुछ डिजिटल चल रहा है। जो कोई भी काम हो सब फोन से ही करते हैं।

जिस प्रकार हर किसी के पास मोबाइल फोन होता है, उसी प्रकार हर मोबाइल फोन मे हर किसी के पास वाट्सएप्प इंस्टॉल रहता है।

लेकिन अब वाट्सएप सिर्फ messaging app यानी बात-चित करने वाला ऐप्स नहीं बल्कि अब उससे payments भी किया जा सकता है।

वॉट्सएप्प अपने 20 millions users के लिये वॉट्सएप्प पे (whatsapp pay) की सुविधा लौन्च किया है।

वॉट्सएप्प ने पेमेंट का ऑप्शन पहली बार नही बल्कि 2018 में ही लौन्च कर दीया था, लकिन उस समय 1 मिलियन users यानी 10 lakh users ही यूज़ कर सकते थे।

इस बार वॉट्सएप्प ने उस 10 lakh को बढा कर 20 मिलियन यानी 2 करोड़ कर दिया है।

जैसा की आप पहले से ही जानते है, की फेसबुक ने व्हाट्सएप को खरीद चुका है। तो वॉट्सएप्प अब फेसबुक की ही कंपनी है।

भारत में वाट्सएप का मार्केट देख कर NPCI ने Facebook Owned messaging app- Whatsapp को allow कर दिया है UPI service launch करने के लिये।

पहले NEFT करने के लिए नाम, बैंक डिटेल, IFSC कोड और बहुत सारी डिटेल्स जरुरी होता था। लेकिन UPI के माध्यम से सिर्फ UPI ID चाहिए। उसके बाद पैसा automatically ट्रांसफर कर दिया जाएगा।

विषय - सूची

वाट्सएप्प पे कौन-कौन इस्तेमाल कर सकता है?

हमरे भारत में वॉट्सएप्प के कम से कम 40 करोड़ से भी ज्यादा users है, उस में से 2 million यानी 2 करोड़ उसेर्स को ही अल्लॉव किया गया है।
मतलब की वॉट्सएप्प upi के facility है, वो 2 crore उसेर्स को ही दे सकता है।

WhatsApp उनही को पेमेंट की facility देगा जिनके पास:

• पहले से वाट्सएप्प हैं, मतलब आप पहले से ही व्हाट्सएप का उपयोग करते हैं।
• आपके पास बैंक अकाउंट होना चाहिए।
• और आपके पास debit कार्ड होना चहिए।

जिन्होने भी upi यूज़ किया हुआ है, उससे पता होगा की upi id बनने के लिए डेबिट कार्ड का डिटेल्स भरना होता है। तभी जाकर upi id बनता हैं।

नवंबर 6th से whatsapp pay का जो भी प्रक्रिया है, वो शुरू हो चुका है।

वॉट्सएप्प payment कैसे करे?

whatsapp pay ke bare me hindi me

व्हाट्सएप्प पेमेंट के लिए सबसे पहले आपको जिस भी आदमी को पेमेंट करना है उसका चैट्स खोलना है।
उसके बाद type a message यानी कि जहां पर आप उस आदमी को message टाइप करते है उसी लाइन में attachment का साइन दिखेगा।
उस attachment के साइन को जब खोलेगे तो कुछ ऑप्शन आ जाते है। जैसे- gallery, document, location आदी।
यहा पर वॉट्सएप्प क्या करेगा कि वो 2 करोड़ users में जिन भी users को पेमेंट का ऑप्शन देना चाहता है उसे पय्मेंत्स का ऑप्शन automatically attachment में डाल देगा।

जरूर पढ़ें:  फोटो एडिटिंग कैसे करें हिंदी में पूरी जानकारी

अगर आपके attachment में पेमेंट का ऑप्शन आ रहा है, तो जो नॉर्मल upi क्रिएट करने का प्रक्रिया है उसी तरह upi id create करना है।

ऐसा नही है की अगर आप वॉट्सएप्प पे यूज़ कर रहे है, तो दुसरे वॉट्सएप्प पे को ही भेज सकते है?

तो ऐसा नहीं है। आप हर किसी को पेमेंट कर सकते है। उनके पास सिर्फ upi id होना चाहिए। आपको उस upi id को डालना है और वो मनी को ट्रांसफर कर देगा।

भारत में बैंक है- जैसे icici, sbi, central bank ये third पार्टी प्लयेर्स है- जैसे फोन पे, गूगल पे, ऐमेज़ॉन पे, पेटीएम, वॉट्सएप्प उन्हे upi service प्रोवाइड करता हैं।

अभी के समय भारत में दो प्लयेर्स का dominance है।
गूगल पे का मार्केट शेयर 42% हैं।
और flipkart- owned फोन पे का मार्किट शेयर 35% हैं।

अगर अकेले देखा जाए इन दोनों का मार्केट शेयर, तो 75% से भी ज्यादा मार्केट शेयर आएगा।

पेटीएम का मार्केट शेयर 15-20% ही हैं।

अब यहाँ पर क्या होगा की अगर वॉट्सएप्प पे यूज़ करते है तो इसका मार्किट तेजी से बढ़ सकता हैं।

2018 में वॉट्सएप्प पे beta mode में शुरू किया गया था।
और केवल 10 लाख उसेर्स को ही एल्बोड था।
लेकिन बाद में सुप्रीम कोर्ट के अंदर एक litigation data आया की जो वाट्सएप्प पे है वो data localisation compliance नहीं कर रहा है।

जरूर पढ़ें:  पीडीएफ बनाने, रीड तथा एडिट करने वाला ऐप

Data localisation क्या होता है?

सरकार के द्वारा नियम लगाया गया है, कि जो भी विदेशी कंपनी भारत में काम करती है। वो जो भी डाटा स्टोर करती है उसको भारत के अन्दर उस डाटा को सबसे पहले स्टोर करना होगा। उस डाटा को वो बाहर नहीं ले जा सकता।

लेकिन व्हाट्सएप के ऊपर इल्जाम लगाया गया कि वो data localisation नहीं कर रहा है। इसलिए 2018 में वाट्सएप्प पे को पूरी तरह नही अल्लो किया जा रहा था।

2019 में RBI ने भी सुप्रीम कोर्ट में वाट्सएप्प पे के ऊपर डाटा localisation का complan किया।

अब जाकर वॉट्सएप्प पे ने नया प्रोपोसल NPCI (National payments corporation of india ) को सबमिट किया। और अब जून 2020 के महीने में NPCI ने RBI को इन्फॉर्म किया की वाट्सएप्प सारे नियम का पालन करेगा।

5th नवंबर 2020 को NPCI ने वाट्सएप्प पे को हरा झंडा दिखा दिया है upi को लॉन्च करने के लिए।

वॉट्सएप्प एक non – banking payment service provider है। मतलब ये एक मैसेज करने वाला ऐप्स है। पेमेंट के ऑप्शन को लाने के लिए बैंक के साथ tie-up करना होता है।

तो वॉट्सएप्प ने 5 बैंकों के साथ tie-up किया हुआ है।

● ICICI बैंक
● HDFC बैंक
● AXIS बैंक
● SBI बैंक
● JIO पेमेंट बैंक

तो whatsapp pay इनके साथ tie-up कर के ये पुरा सिस्टम चलाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here