मुख्य पृष्ठ निबंध विज्ञान और तकनीक पर निबंध

विज्ञान और तकनीक पर निबंध

0
213

आज के इस पोस्ट में हम अपने पाठकों को यह बताएंगे कि विज्ञान और तकनीकी क्या है और किस तरह से संसार इनका उपयोग करके विकास की राह पर चल पड़ा है साथी हम यह बताएंगे कि तकनीकी और विज्ञान ने किन-किन क्षेत्रों में अपना छाप छोड़ा है।

विज्ञान और तकनीक दोनों एक ही सिक्के के दो पहलू हैं। क्योंकि इन दोनों के बिना किसी भी देश का विकास नहीं हो सकता है। किसी भी देश के विकास के लिए विज्ञान और तकनीकी का बेहतर होना अति आवश्यक है। इन दोनों क्षेत्रों के विकास से ही देश का विकास जुड़ा है। विज्ञान और तकनीकी के क्षेत्र में कई सारी आविष्कार करना किसी भी देश के लिए अति आवश्यक है, क्योंकि इन्हीं क्षेत्रों के वजह से कोई भी देश मजबूत और ताकतवर बनता है। आधुनिक विश्व में विज्ञान और तकनीकी के क्षेत्र में बहुत विकास किया है। किसी भी देश का विकास तकनीकी विज्ञान के बिना कल्पना करना भी मुश्किल है। दोनों ही क्षेत्रों के विकास की वजह से हमारा जीवन सुविधाजनक हो गया है।

ये आधुनिक युग वैज्ञानिक आविष्कारों और बेहतर तकनीक का यूग है। विज्ञान के विकास से ही तकनीकी क्षेत्र में विकास होता है। और ठीक उसी तरह से हम यह कह सकते हैं कि तकनीकी के विकास से विज्ञान का विकास संभव है। क्योंकि वैज्ञानिक आविष्कार तभी संभव हो सकता है जब उसके लिए विकसित उपकरण उपलब्ध हो। किसी भी देश के समाज को उन्नति की राह पर ले जाना है तो हर संभव प्रयास करना चाहिए कि उस देश का विज्ञान और तकनीकी को एक नए आयाम पर ले जाया जाए । प्रौद्योगिक औद्योगिक कलाओं और प्रयुक्त विज्ञानों से संबंधित अध्ययन या विज्ञान का समूह है।

विज्ञान और तकनीकी का महत्व :-

विज्ञान और तकनीक ने लगभग सारे ही क्षेत्र में महत्वकांक्षी रूप से विकास किया है।

शिक्षा के क्षेत्र में योगदान:-

विज्ञान और तकनीकी के मदद से शिक्षा के क्षेत्र में कई सारे विकास हो रहे हैं। विद्यालयों और महाविद्यालयों ने एक इंटरएक्टिव वातावरण बनाकर बच्चों को स्मार्ट क्लास में कंप्यूटर और इंटरनेट के जरिए ज्ञान प्रदान कर रहे हैं। इस आविष्कारक संसार में बच्चे कंप्यूटर और इंटरनेट की मदद से अपनी कठिन और जटिल समस्याओं का हल चंद सेकेंड्स में प्राप्त कर पा रहे हैं।

जरूर पढ़ें:  कंप्यूटर पर हिंदी निबन्ध

खेल के क्षेत्र में योगदान :-

विज्ञान और तकनीक ने कई सारे क्षेत्रों में विकास किया है साथ ही इस ने खेल जगत में भी अपना छाप छोड़ा है। घर बैठे हैं यह लोग फुटबॉल क्रिकेट हॉकी बैडमिंटन जैसे खेलों का सीधा प्रसारण अपने टीवी और कंप्यूटर स्क्रीन पर बहुत ही आसानी से देख पाते हैं तथा मनोरंजन के साथ-साथ अपने बच्चों को भी खेल के प्रति जागरूक करते हैं।

आप अगर क्रिकेट की बात करते हैं तो विज्ञान और तकनीकी ने इनका बहुत हद तक रूप ही बदल दिया है। आज के स्टंप्स में कैमरे लगे होते हैं जिससे निर्णय लेना आसान हो जाता है। क्रिकेट का स्कोर भी अब इलेक्ट्रॉनिक बोर्ड पर दर्शाया जाता है।

मनोरंजन के क्षेत्र में योगदान :-

आधुनिक युग में मनोरंजन के लिए बन रही फ़िल्में और टीवी सीरियल्स को बनाने में भी तकनीकी और विज्ञान का इस्तेमाल हो रहा है। फिल्मकार फिल्म बनाने के लिए अच्छे कैमरा का इस्तेमाल करते हैं। सिनेमाघरों में भी फिल्म देखने के लिए 3D ग्लास मिलते हैं ताकि दर्शक फिल्म को और भी उत्साहवर्धक तरीके से मनोरंजन कर सके।

साथ ही लोग मनोरंजन के लिए टीवी और कंप्यूटर का इस्तेमाल करते हैं तथा लोग अपने मोबाइल में ही डिजिटल गेम्स खेल कर भी मनोरंजन करते हैं। आज के इस आधुनिक युग में लोग अपने मोबाइल में ही लूडो चेस तथा अन्य वीडियो गेम्स बहुत ही आसानी से खेल पाते हैं।
लोग मनोरंजन के लिए तकनीकी से प्रयुक्त वाटरफॉल सर्कस थीम पार्क में जाकर उत्साह के साथ लाभ उठाते हैं।

कृषि क्षेत्र में योगदान :-

विज्ञान और तकनीक ने कृषि क्षेत्र में भी अपना बहुत बड़ा योगदान प्रदान किया है। किसान अपने खेतों में नई नई तकनीकी उपकरणों का इस्तेमाल कर अपने खेत से होने वाली पैदावार को बढ़ा रहे हैं। किसान अपने खेतों में नए उपकरणों का इस्तेमाल कर आसानी से पानी की व्यवस्था कर पा रहे हैं। और तो और किसान अपने खेत में बुआई से लेकर कटाई तक के लिए कई अविष्कारक उपकरणों का इस्तेमाल कर रहे हैं तथा अपनी काम करने की विधि को आसान बना रहे हैं और कम समय में ही अच्छे लाभ उठा रहे हैं।

जरूर पढ़ें:  भारत में वर्षा ऋतु पर निबंध | Essay on rainy season in India in Hindi

किसान अपने खेत में कीटाणु और खरपतवार को हटाने के लिए वैज्ञानिक विधि से तैयार कीटनाशक और फर्टिलाइजर का उपयोग कर अपने खेत की पैदावार बढ़ा रहे हैं। तकनीकी और विज्ञान के मदद से और भी कई क्षेत्रों में किसान विकास कर रहा है जैसे मुर्गी पालन , पशुपालन , मत्स्य पालन इत्यादि।

यातायात के क्षेत्र में योगदान :-

विज्ञान और तकनीकी के योगदान से यातायात के क्षेत्र में भी बहुत सारे बदलाव हुए हैं। अगर यातायात के क्षेत्र में विज्ञान और तकनीकी का योगदान ना होता तो आज हमारे जीवन में बहुत सारी कठिनाइयों को झेलना पड़ता। हमें एक जगह से दूसरी जगह पर जानने के लिए काफी समय गंवाने पड़ते। नई नई तकनीकी से प्रयुक्त बस ट्रेन जोकि काफी रफ्तार से चलकर लोगों को एक जगह से दूसरी जगह पहुंचाने में सुविधा प्रदान कर रहे हैं। आधुनिक जगत में बुलेट ट्रेन जैसी अच्छी खासियत वाली रेलगाड़ी पटरी पर पर काफी तेजी से चल रही है। जिस की गति 300 किलोमीटर प्रति घंटा है। आज जेट जहाज की मदद से दुनिया की किसी भी कोने में कुछ ही घंटों में पहुंचाने की क्षमता रखती है।

संचार के क्षेत्र में योगदान:-

आज के इस आधुनिक युग में लोग संचार की मदद से संसार के किसी भी कोने में बैठे परिजनों से बहुत ही आसानी से घंटो बात कर सकते हैं। बिजली बिजलआज संचार ने तकनीकी और विज्ञान के मदद से बहुत सारे अविष्कार किए हैं।

अंतरिक्ष में भेजे गए उपग्रहों के मदद से आज हम ड्राइवरन में होने वाली गतिविधियों को होने से पहले ही जान जाते हैं। संचार में विकास होने की वजह से लोग बारिश होने से पहले भूकंप आने के पहले तूफान और सुनामी आने के पहले ही उपग्रहों की मदद से वैज्ञानिक हमें पहले ही सुनिश्चित कर देते हैं कि कब बारिश या तूफान और सुनामी आने वाली है

विद्दुत के क्षेत्र में योगदान :-

विज्ञान और तकनीकी ने विद्युत उत्पादन के क्षेत्र में नए नए उपकरणों कि मदद से बहुत सारे बदलाव और विकास लाए हैं। आज हम कई प्रकार से बिजली का उत्पादन कर पा रहे हैं तो वह सिर्फ विज्ञान तकनीकी के क्षेत्र में विकास के कारण हुआ है। हम जल, बायोगैस, सोलर और परमाणु ऊर्जा से भी विद्युत उत्पादन कर रहे हैं।

जरूर पढ़ें:  पेड़ पौधे पर निबंध हिंदी में

रोजमर्रा में विज्ञान और तकनीकी का विकास होना बहुत ही लाभदायक हुआ है। कई सारे लोग सोशल नेटवर्किंग साइटों जैसे फेसबुक, वाट्सअप, यूट्यूब, ट्विटर, इन्स्टाग्रामका का इस्तेमाल कर मनोरंजन के साथ-साथ कई सारी ऑनलाइन नौकरियां भी कर रहे हैं। आधुनिक विज्ञान और तकनीकी लोगों के दिनचर्या को बहुत हद तक सरल और सुविधाजनक बना दिया है। लोग सर्दियों में हीटर जैसे उपकरणों का इस्तेमाल कर गर्मी का आनंद ले रहे हैं तथा गर्मियों में ठंडी करने वाली उपकरण जैसे एयर कंडीशनर का इस्तेमाल कर गर्मी की तापमान को अपनी सुविधा के मुताबिक बना लेते हैं। कपड़े धोने के लिए वाशिंग मशीन जैसे उपकरण का इस्तेमाल कर रहे हैं। ऐसे ही कई उपकरण जो कि विज्ञान और तकनीकी के विकास के कारण हमारे दिनचर्या में शामिल है जो हमारे जीवन को सुविधाजनक बना रहे हैं।

निष्कर्ष :-

आधुनिक युग के विकास के कारण विज्ञान और तकनीकी के वजह से ही संभव हो पाया है। आज के इस दौर में सभी व्यक्तियों का जीवन विज्ञान और तकनीकी के आविष्कारों से जुड़ा हुआ है और कई मामलों में लोग विज्ञान और तकनीक के वजह से होने वाली सुविधा उन्हें आलसी और श्रम हीन भी बना रही है क्योंकि वह नई उपकरणों पर आश्रित हो गए हैं। हमारे जीवन में विज्ञान और तकनीकी का बहुत महत्व है लेकिन इसका मतलब यह नहीं होता कि हम इसके ऊपर आश्रित हो जाए क्योंकि उपकरणों के ऊपर आश्रित होना हमें श्रम हीन और अलसी बनाता है जिससे कई प्रकार के रोगों का भी सामना करना पड़ता है। पता मैं अपने पाठकों को इस निबंध के द्वारा यह समझाना चाहता हूं कि वैज्ञानिक और तकनीकी उपकरणों का इस्तेमाल कर हम विकास की राह पर चले ना कि इसके ऊपर आश्रित होकर हम अपने और अपने वातावरण का विनाश करें। किसी भी चीज का आवश्यकता से अतिरिक्त उपयोग करना विनाशकारी ही साबित होता है।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here