प्रधानमंत्री कैसे बने पूरी जानकारी? | Pradhan Mantri Kaise Bante Hain?

0
61

Q1. प्रधानमंत्री कौन होते हैं?

जैसा कि आप जानते हैं भारत में पार्लियामेंट्री(संसाध्य) फॉर्म आफ गवर्नमेंट होता है। इसमें दो तरह के होते हैं एक नॉमिनल (नाममात्र) हेड और एक रियाल (सच्छे) हेड। यहां पर नॉमिनल (नाममात्र) हेड प्रेसिडेंट होते है और रियाल हेड प्रधानमंत्री। यूं तो सब काम प्रेसिडेंट के द्वारा ही किया जाता है लेकिन इसकी सारी डिसीजन और क्या कैसे करना है यह तो हमारे प्रधानमंत्री करते हैं। भारत एक डेमोक्रेटिक(लोकतंत्र) देश है जिसमें की लोगों को अपना लीडर चुनने का हक होता है और कई ऐसे देश होते हैं जहां यह चीज नहीं चलती है तो उसे हम प्रेसीडेंशियल फॉर्म आफ गवर्नमेंट कहते हैं।

जरूर पढ़ें:  ग्राफिक डिजाइनर कैसे बनाते हैं हिंदी में जानकारी? | Graphic Designer Kaise Bane Hindi Mein Jankari

प्रधानमंत्री देश के रियल हेड होते हैं। देश में जो भी चीज होगी पवन के पूरी जानकारी रखते हैं तथा उनके आदेश के अलावा कोई भी सरकारी काम नहीं होता है। प्रधानमंत्री को बहुत ही पावरफुल माना जाता है क्योंकि उनके पास हर पॉवर होती है। प्रधानमंत्री के जानकारी से हर राज्य में कि नियम कानून बनते हैं। यह सब वही देखते हैं।

Q2. प्रधानमंत्री कैसे चुने जाते हैं?

लोकसभा का जब चुनाव होता है तो हम सब आम नागरिक अपना वोट देते हैं उसी वोट से जो पार्टी जीत जाती है उसके सारे मेंबर्स को बुलाया जाता है और सारे मेंबर्स के साथ एक दिन मीटिंग होती है और इसी में से जो उस पार्टी के हेड होते हैं उन्हें प्रधानमंत्री के तौर पर चुना जाता है। इन्होंने अपना स्थान सेट करना पड़ता है और फिर उनका शपथ ग्रहण होता है फिर वह हमारे देश के प्रधानमंत्री के तौर पर अपना पद संभालते है।

Q3. प्रधानमंत्री कितने साल के लिए चुने जाते हैं?

प्रधानमंत्री 5 साल के लिए चुने जाते हैं और उसके बाद फिर से इलेक्शन होता है।

जरूर पढ़ें:  सीडीएस (CDS) परीक्षा के बारे में जानकारी

Q4. प्रधानमंत्री का क्या-क्या काम होते हैं?

प्रधानमंत्री का कार्य बहुत विभागों में बटा हुआ है। प्रधानमंत्री अपने कैबिनेट मंत्रियों का स्थान सूचित करते हैं। इन्हे डिफेंस और आर्मी में भी दखल देने का पूरा पॉवर है। कोई भी काम प्रधानमंत्री को सूचित किया बिना नहीं होता है। उन्हें कोई भी मंत्री को बुलाने या हटाने या उनका पद बदलने का पूरा हक है। कोई भी मंत्री प्रधानमंत्री के संरक्षण के बिना नहीं रह सकता है। प्रधानमंत्री सब कुछ राष्ट्रपति तक पहुंचाते हैं और राष्ट्रपति के हर काम में डिसीजन लेते है। बिना कोई काम नहीं होता है।

Q5. प्रधानमंत्री बनने के लिए क्या-क्या जरूरी है?

अब हम बात करते हैं प्रधानमंत्री बनने के लिए क्या-क्या जरूरी है। सबसे पहले तो प्रधानमंत्री उस देश के नागरिक होने चाहिए। दूसरा उनकी उम्र 35 वर्स से ज्यादा होना चाहिए। वह या तो राज्यसभा व लोकसभा में मेंबर होने चाहिए। और इस समय और किसी भी सरकारी या फिर कोई भी नौकरी मैं नहीं होने चाहिए।

जरूर पढ़ें:  रेडियो जॉकी बनने के लिए क्या क्या करना पड़ता है? रेडियो जॉकी से संबंधित पूरी जानकारी।

Q6. अगर प्रधानमंत्री कोई भी हाउस के मेंबर नहीं रहते हैं तो क्या होता है?

अगर वह दोनों में से कोई भी हाउस के मेंबर नहीं होते है तो पहले 14 दिन के अंदर अपने मेजॉरिटी सिद्ध करनी पड़ती है और 6 महीना के अंदर उन्हें राज्यसभा या लोकसभा का मेंबर बन जाना होता है।

Q7. प्रधानमंत्री कौन कौन से पद पर नियुक्ति करते है?

वे कभी भी अपने मंत्रिमंडल को बुला सकते हैं और सब कुछ के बारे में जानकारी ले सकते है। प्रधानमंत्री है अटॉर्नी जनरल, चीफ इलेक्शन कमिश्नर, ऑडिटर जेनरल, मेंबर्स ऑफ फाइनेंस कमीसन को चुनते हैं।प्रधानमंत्री संविधान में बहुत चीजों को बदल सकते हैं। अगर प्रधानमंत्री अपना काम अच्छे से या ठीक से नहीं कर रहे होते है तो उन्हें निलंबित भी किया जा सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here