मुख्य पृष्ठ निबंध इंटरनेट (अंतरजाल) पर निबंध | Internet Par Hindi Essay

इंटरनेट (अंतरजाल) पर निबंध | Internet Par Hindi Essay

0
137

इंटरनेट को हिंदी में अंतरजाल कहा जाता है। यह एक वैश्विक नेटवर्क है जिसमें कई स्वेच्छा से जुड़े हुए स्वायत्त नेटवर्क हैं। इंटरनेट आधुनिक दुनिया का सबसे उत्तम और उपयोगी अविष्कार हैं। आज हम दुनिया के किसी भी कोने से अपने संदेशों का आदान प्रदान कर सकते हैं। इंटरनेट एक ऐसा साधन है जिसके द्वारा दुनिया के सारे लोग एक दूसरे से जुड़े हुए हैं। इंटरनेट एक ऐसा जरिया बन गया है जिसने रोजमर्रा के काम को आसान बना दिया है , तथा इसकी आवश्यकता बढ़ती ही जा रही है। आज की इस भाग दौड़ भरी जिंदगी में इंटरनेट ( अंतरजाल ) बहुत ही महत्वपूर्ण हो गया है। इंटरनेट के जरिए हम अपने जीवन के तमाम मुश्किलों को आसानी से सुलझा सकते हैं।

इंटरनेट के जरिए विश्व में इंटरकनेक्टेड कंप्यूटर नेटवर्क की बहुत ही मजबूत पद्धति बनती जा रही है। इंटरनेट हमें सूचना प्रणाली को दिन प्रतिदिन एक मजबूत कड़ी बना रही है। आधुनिक दुनिया में इंटरनेट के ऊपर लोग आश्रित होते जा रहे हैं। आज रोजमर्रा के जीवन में इंटरनेट के बिना एक पल भी गुजारना असंभव सा लगता है। क्योंकि दुनिया में जितने भी आज कार्य हो रहे हैं चाहे वह सूचना से संबंधित हो या फिर निजी और सरकारी कार्यालय हो इसकी आवश्यकता बढ़ती जा रही है।

आज के इस बदलते दौर में विद्यालयों महाविद्यालयों या फिर सरकारी काम में इसको तवज्जो दिया जा रहा है। आधुनिक दौर में लोग घर से ही कमाई कर रहे हैं और इसको इंटरनेट की सेवाएं ही कारगर होने में मदद कर रही है। छात्र-छात्राएं अपनी पढ़ाई भी इंटरनेट के माध्यम से आसान बना रहे हैं। वह घर से ही इंटरनेट के माध्यम से अच्छे शिक्षकों का लेक्चर से पढ़ रहे हैं। आज हमारा ये समाज इंटरनेट जागरूकता को बखूबी समझ रहा है तथा इससे होने वाली फायदे को भी वह महसूस कर रहा है। इंटरनेट हमें फायदे और नुकसान दोनों पहुंचा सकती है यह आप पर निर्भर करता है कि आप इसे किस प्रकार से इस्तेमाल कर रहे हैं।

जरूर पढ़ें:  रोमांच पर निबंध | Essay on Adventure in Hindi

इंटरनेट का इतिहास:-

• इंटरनेट को पहली बार 1989 में बनाया गया। और इसकी संरचना संयुक्त राष्ट्र के अनुसंधान संस्था और “यू सी एल ए”के द्वारा बनाया गया।
• 1949 में ब्रिटिश के डाकघर को पहला अंतरराष्ट्रीय नेटवर्क बनाया गया।
• 1984 में एप्पल के द्वारा ‘आधुनिक सफल कंप्यूटर’ लांच किया गया।
• 1989 में टिम बेर्नर ली ने ब्राउज़र और लिंक की मदद से वर्ल्ड वाइड वेब बनाया उसके द्वारा संचार की व्यवस्था और भी सरल हुई।
• 1996 गूगल के द्वारा अनुसंधान परियोजना शुरू किया गया।
• 2009 डॉ स्टीफ़न वोल्फ़रैम ने “वोल्फ़रैम ऐल्फ़ा” लाँच किया।

इंटरनेट से होने वाले फायदे :-

✓ इंटरनेट के माध्यम से हम सर्च इंजिन के द्वारा कोई भी जरूरी सूचना और जानकारी चंद सेकेंड्स में प्राप्त कर लेते हैं।
✓ इंटरनेट के माध्यम से दुनिया के किसी भी कोने में रह रहे व्यक्ति से हम घंटों बात कर सकते हैं।
✓ इंटरनेट की वजह से आज सोशल नेटवर्किंग साइट हमेशा एक्टिव रहती है, सोशल नेटवर्किंग साइटों से लोग दुनिया में रह रहे लोगों को अपना दोस्त बना पाते हैं।
✓ इंटरनेट में कई तरह की सुविधाएं मुहैया कराती है जैसे की बैंक से पैसे निकालना, घर बैठे ट्रेन टिकट की बुकिंग करना, ऑनलाइन पढ़ाई करना, ऑनलाइन शॉपिंग करना इत्यादि जैसे काम हम घर बैठे ही कर सकते हैं।
✓ इंटरनेट कई लोगों के लिए मनोरंजन भी प्रदान करता है।
✓ इस दौर में इंटरनेट कई तरह के व्यापार को भी बढ़ावा दे रहा है। इसके द्वारा आप अपने व्यापार का एडवर्टाइजमेंट भी कर सकते हैं।
✓ शिक्षा के क्षेत्र में भी इसका बहुत बड़ा योगदान रहा है आज के इस दौर में छात्र और शिक्षक दोनों को ही जानकारी प्रदान करने में इंटरनेट कारगर साबित हो रहा है।
✓ इंटरनेट के जरिए आज निजी और सरकारी दोनों ही क्षेत्रों में बहुत ही अधिकता से प्रयोग किया जा रहा है।

जरूर पढ़ें:  दहेज प्रथा – एक सामाजिक अभिशाप पर निबंध | Dahej Pratha par Essay in Hindi

इंटरनेट से होने वाले नुकसान :-

✓ इंटरनेट पर जरूरत से ज्यादा समय व्यतीत करना एक बहुत बड़ा कारण बनता नजर आ रहा है लोग व्यर्थ में ही सोशल नेटवर्किंग साइट पर फेसबुक व्हाट्सएप इंस्टाग्राम पर जरूरत से ज्यादा समय व्यतीत करने लगे हैं।
✓ इंटरनेट के जरिए लोगों के बहुत सारे महत्वपूर्ण डाटा को चोरी किया जा रहा है हाल ही में फेसबुक के द्वारा हैकरों से डाटा चोरी करने का मामला आया था।
✓ आज इंटरनेट से हम बहुत सारे लाभ उठा पा रहे हैं परंतु कई मामलों में हैकर द्वारा हमारे कंप्यूटर और मोबाइल में वायरस भेजा जा रहा है जिससे हमारा महत्वपूर्ण और अति आवश्यक डाटा या तो चोरी हो जा रहा है नहीं तो करप्ट।
✓ इस दौर में जिस तरह नशीली पदार्थों का नशा होता है उसी तरह आज दुनिया की आधी जनसंख्या इंटरनेट के नशे से भी ग्रस्त हो रही है।
✓ इंटरनेट आज बच्चों के दिमाग पर बुरा असर भी डाल रही है बच्चे इंटरनेट के माध्यम से गंदी गंदी तस्वीरें और वीडियो देख बिगड़ रहे हैं।
✓ इंटरनेट के जरिए विश्व में अश्लीलता और हिंसा भी फैलाया जा रहा है।
✓ इंटरनेट की लत ने आज ऊंचे तबके तक बहुत सारी स्वास्थ्य समस्याएं भी उत्पन्न ले रही है जैसे आंखों में जलन सिर में दर्द आलस का बढ़ना कमर में दर्द वजन का बढ़ना मानसिक और शारीरिक तनाव का बढ़ना भी तेजी से बढ़ रहा है।
✓ इंटरनेट के जरिए हैकर्स लोगों का पर्सनल डाटा, जैसे नाम, पता, मोबाइल नंबर, बैंक अकाउंट नंबर जैसे पर्सनल इंफॉर्मेशन का चोरी कर रहे हैं।
✓ इंटरनेट की वजह से लोगों में सामाजिकता की कमी आ रही है लोग सोशल नेटवर्किंग साइट पर तो बात कर लेते हैं परंतु वे सामाजिकता से दूर जा रहे हैं।
✓दिन प्रतिदिन इंटरनेट पर स्पैम बढ़ता जा रहा है कई फ्रॉड कंपनियां लोगों को ई-मेल भेजकर उनका गोपनीय दस्तावेज निकाल रहे हैं।

जरूर पढ़ें:  महात्मा गांधी पर निबंध | Essay on Mahatma Gandhi in Hindi

निष्कर्ष:-

आधुनिक दौर में इंटरनेट का सही से इस्तेमाल हो तो यह बहुत ही महत्वपूर्ण और कारगर साबित होता है। क्योंकि आज हम कई तरह के जानकारी को आसानी से इंटरनेट से प्राप्त कर सकते हैं।इंटरनेट हमें फायदे और नुकसान दोनों पहुंचा सकती है यह आप पर निर्भर करता है कि आप इसे किस प्रकार से इस्तेमाल कर रहे हैं। इंटरनेट को आप सही इस्तेमाल में लाए ना कि मानसिक और शारीरिक रूप से इसकी वजह से अपना स्वास्थ्य बिगाड़े। इंटरनेट को दायरे में रहकर इस्तेमाल करना चाहिए इसमें अपना व्यर्थ का समय ना गवाएं बल्कि इससे अपने समय को मूल्यवान बनाने में मदद ले। अन्यथा समय बीत जाने पर केवल निराशा ही हाथ आती है। इंटरनेट पर बिना परखे अपने जरूरी दस्तावेजों को किसी से भी या किसी फ्रॉड साइट पर ना शेयर करें।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here