च्यवनप्राश के फायदे और नुकसान क्या है?

0
45

च्यवनप्राश कई प्रकार के जड़ी बूटियों से मिलकर बना होता है। च्यवनप्राश एक आयुर्वेदिक उत्पाद है।च्यवनप्राश खाने से सर्दी जुकाम कम होता है ,और इम्यूनिटी सिस्टम भी सही रहता है।च्यवनप्राश खाने की सलाह चिकित्सक से लेकर हमारे आस पड़ोस के लोग भी देते हैं ।च्यवनप्राश में कुछ ऐसी औषधियां भी रहते है। जो हमें ठंड से बचाने का काम करता है। ज्यादातर लोग सर्दियों में च्यवनप्राश का सेवन करते हैं।

च्यवनप्राश खाने के फायदे

1. च्यवनप्राश खाने से शरीर का सूजन कम हो सकता है।

जिन लोगों के शरीर में सूजन रहता है अगर वह लोग च्यवनप्राश का सेवन करते हैं तो सूजन में काफी राहत मिल सकता है। च्यवनप्राश को एंटी-इंफ्लामेटरी माना जाता है। जानकारी के लिए आपको बता दे की च्यवनप्राश  कुछ ऐसी भी सामग्री से मिलकर बना होता है।जो इंफ्लामेशन को कम करने का काम करता है । च्यवनप्राश मे अश्वगंधा, नागकेसर और आंवला जैसी सामग्री भी पाया जाता है।च्यवनप्राश को खाने से हमारे केंद्रीय तंत्रिका तंत्र के कार्य को सुधार करने में भी मदद मिलता है।

जरूर पढ़ें:  पालक के फायदे नुकसान और उपयोग क्या है।

2. च्यवनप्राश खाने से पाचन क्रिया में सुधार हो सकता है।

अगर हमारे पाचन शक्ति में कोई परेशानी है,तो च्यवनप्राश का नियमित सेवन करने से सुधार हो सकता है।च्यवनप्राश खाने से खाना अच्छे से पचता है।  आपको बता दें कि च्यवनप्राश मे नागकेसर, तेजपत्ता, दालचीनी जैसी जड़ी-बूटियों मौजूद होती है।जिसके कारण  च्यवनप्राश पाचन और चयापचय सही करने में काफी सहायता प्रदान करता है।च्यवनप्राश खाने से पेट में जो भी समस्याएं रहती है।उससे छुटकारा पाया जा सकता है।

3. च्यवनप्राश खाने से खांसी और सर्दी  भी कम हो सकता है।

सर्दी के मौसम में ज्यादातर लोगों को सर्दी खांसी की समस्याएं रहती है।इस समस्या से छुटकारा पाने के लिए लोग ज्यादातर च्यवनप्राश का सेवन करते हैं।आपको बता दें कि च्यवनप्राश में शहद भी रहता है।जो सर्दी और खांसी को ठीक करने में काफी मददगार होता है। इसके अलावा च्यवनप्राश खाने से  इम्यूनिटी सिस्टम सही रहता है। च्यवनप्राश में अत्यधिक मात्रा में आंवला और अन्य जड़ी-बूटियां विटामिन-सी उपलब्ध होती है। जो हमारे शरीर को वायरस और बैक्टीरिया से बचाने में मदद करता है ।

जरूर पढ़ें:  अरंडी का तेल हमारे लिए किस तरह फायदेमंद और नुकसानदायक है।

4. च्यवनप्राश खाने से शरीर का रक्त भी साफ हो सकता है।

च्यवनप्राश खाने से हमारे शरीर मे उपलब्ध रक्त साफ होता है। च्यवनप्राश में कुछ ऐसे भी तत्व मौजूद रहते हैं। जो हमारे शरीर से विषैले पदार्थ को बाहर निकालने का काम करता है।च्यवनप्राश में तुलसी और हल्दी भी उपलब्ध रहता है।जो हमारे शरीर में उपलब्ध खून को साफ करने का काम करता है ।

5. च्यवनप्राश खाने से याददाश्त भी तेज हो सकता है।

च्यवनप्राश प्रतिदिन सेवन करने से दिमाग तेज होता है।आपको बता दें कि आजकल ज्यादातर लोगों को किसी न किसी बात को लेकर टेंशन बनी रहती है ।जिसके कारण वो किसी भी जरूरी काम को  भूल जाते हैं या फिर जिन लोगों का उम्र ज्यादा हो जाते हैं। उन लोगों की याददाश्त धीरे-धीरे कमजोर होते जाते। ऐसे में अगर वो लोग च्यवनप्राश  खाते हैं तो उन लोगों का दिमाग तेज हो सकता है।

च्यवनप्राश किस तरह नुकसानदायक होता है

  1. आपने अक्सर देखा होगा कि लोग दूध के साथ सुबह और रात मे च्यवनप्राश खाते है। आपको बता दें कि सुबह में च्यवनप्राश खाना दूध के साथ सही रहता है। लेकिन रात में दूध के साथ च्यवनप्राश बिल्कुल नहीं खाना चाहिए या बिना दूध के भी नहीं खाना चाहिए। क्योंकि च्यवनप्राश में आँवला का मात्रा ज्यादा रहता है। जिससे दांत खराब होने की संभावना रहती है।
  1. डायबिटीज के मरीजों को च्यवनप्राश बिल्कुल नहीं खाना चाहिए क्योंकि च्यवनप्राश में अधिकतर चीनी रहता है। जिसे खाने से डायबिटीज के मरीजों को परेशानियां हो सकती है ।इसीलिए च्यवनप्राश खाने से उन्हें बचना चाहिए।
  1. च्यवनप्राश  का ज्यादा सेवन करने से पेट खराब हो सकता है। इसलिए सीमित मात्रा मे च्यवनप्राश  खाना चाहिए।
जरूर पढ़ें:  जानिए अखरोट के फायदे, नुकसान और उपयोग किस तरह होता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here