ब्रेकिंग न्यूज़: 118 चीनी ऐप पर भारत सरकार ने लगाई रोक (Ban)

0
96

नई दिल्ली: भारत सरकार ने चीन के खिलाफ एक बड़ा फैसला लिया है फिर से 118 चीनी ऐप को बैन किया। भारत ने चीन पे फिर से एक बड़ा डिजिटल अटैक किया है। भारत के पूर्वी लद्दाख की गलवन घाटी में हिंसक झड़प के बाद जो 3-4 महीनों से वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर तनावपूर्ण माहौल बना है उसके बीच भारत ने यह बड़ा कदम उठाया है। लद्दाख में भारत और चीन के बॉर्डर पर दोनो देशों के बीच तनाव का इससे पहले भारत सरकार ने 59 चीनी ऐप पर बैन लगाई थी। ऐ तीसरी बार है जो भारत सरकार ने 118 और चीनी ऐप जिसमें बहुत ही फेमस PUBG जैसे गेम ऐप को बैन किया है। जिसमें PUBG App के अलावा 34 सिर्फ गेम ऐप ही है। यह निर्णय सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम की धारा 69 ए के तहत लिया गया था।

भारत सरकार के द्वारा उठाए गए इस कदम से चीन के कई गेम और आईटी कंपनियों को बहुत नुक्सान पहुंचा है। दुसरी तरफ भारतीय ऐप यूजर के लिए भी एक बहुत ही बड़ा झटका से कम नहीं है। इस कदम का चीन और भारत के हो रहे बॉर्डर विवाद से कोई संबंध नहीं है ऐसा भारत सरकार का कहना है। ऐपो के बैन करने के लिए बढ़ती भारतीय के डाटा और प्राइवेसी के साथ छेड़छाड़ को मध्य नज़र रखते हुए निर्णय लिया गया है। ऐप को Ban करने का निर्णय के पीछे भारतीय साइबर स्पेस की सुरक्षा है, साथ ही साथ सुरक्षा और संप्रभुता को सुनिश्चित करने के लिए एक आवश्यक कदम उठाया गया है, ”भारत के इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने बुधवार को जारी एक बयान में कहा है।

59 china apps banned by india

भारत के प्रधानमंत्री मोदी के द्वारा लॉन्च किए गए आत्म निर्भर योजना के तहत इस परिस्थिति में कई आईटी कंपनियों को बहुत ही फायदा होगा। ऐसी बहुत सी भारतीय कंपनीयों को इस अवसर के द्वारा भारत में नई ऐप को बनाने को मिलेगा और इससे इस कंपनी को बहुत मुनाफा होगा और हमारे देश की इससे आर्थिक सहायता मिलेगी। उदाहरण के तौर पर pubg जैसे गेम ऐप के मिलती-जुलती FAU-G गेम को ncore भारतीय कंपनी अक्टूबर तक launch करने वाली है।

जरूर पढ़ें:  मध्यप्रदेश के रीवा में बने एशिया के सबसे बड़े सौर परियोजना का लोकार्पण आज माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के द्वारा किया।

जरुर पढ़े: Fau-G Game App के बारे में जानकारी

भारत सरकार ने आईएसपी और टेलीकॉम ऑपरेटरों को इन सभी बैन ऐप के उपयोग पर प्रतिबंधित करने के लिए कहा है भारत में बैन चीनी ऐप की सूची कुछ इस प्रकार है:-

प्रतिबंधित चीनी ऐप की सूची | Ban Chinese App Ki List

(1) प्रतिबंधित 59 चाइनीज एप्प की सूची जैसे TikTok, Shareit, UC Browser इत्यादि

app ban list

(2) जानिए फिर से कौन-कौन से अन्य 118 चीनी मोबाइल ऐप प्रतिबंधित हुए हैं

chinese 118 apps ban list hindi me
chinese app ban list 118 hindi
full list chinese ban apps shuddh hindi

जानिए अचानक क्या वजह हो सकती है?

ऐसा माना जा रहा है कि मंगलवार को भारत और चीन के कोर कमांडरों के बीच तीसरी बैठक होने जा रही है। इस कदम से बैठक में दोनों देश आंख में आंख डाल के बात कर सकते हैं। दोनों और से तनाव बढ़ती ही जा रही है। ऐसे में भारत का ये अहम फैसला लेना जायज था। इस बार मीटिंग भारत की ओर से रखी गई वहीं पिछले दो मीटिंग चाइना ने रखी थी।हो सके आने वाले समय में चाइना भी कुछ ठोस कदम उठा ले लेकिन भारत का यह कदम बहुत चाइना को बहुत महंगा पड़ा होगा। 

जरूर पढ़ें:  20 वर्षों में सांप के काटने से भारत में लगभग 12 लाख लोगों की हो चुकी है मृत्यु।

कुछ दिन पूर्व केंद्र सरकार ने मांग की थी ऐप पर बैन लगाने की क्युकी ऐसा माना जा रहा था कि ये सारे ऐप के तहत बड़े पैमाने पर डेटा बाहर भेजा जा रहा है। भारत में इन ऐप का इस्तेमाल करने वाले काफी लोग थे लेकिन चीन की ऐसी व्यव्हार से भारतीय खुद इसका इस्तेमाल करना बंद कर दिए थे।

59 aur 118 banned chinese apps ki list

लोगों का आक्रोश चीन के प्रति

ऐसा देखा गया कि सोमवार को ऐप बैन होने के पहले भी भारतीय नागरिक ने ऐप को अनिंस्टॉल कर दिया था। इससे हमारे देश की एकजुटता दिखती है और देश के प्रति प्रेम। इससे यह साबित हुआ की हमारे सैनिक अकेले नहीं बल्कि हमारा सम्पूर्ण भारत देश उनके साथ है। कुछ दिन पूर्व हमारे देश ने २० जवानों को खोया चीन हमले में यह बेहद दुखद था हमारे लिए। लेकिन इस बार भारत ने भी ईंट का जवाब पत्थर से दिया है। 

इन सारे क़दमों से यह कहा सकता है की अब भारत भी पूरी तरह से तैयार है। आने वाले हर परिस्थिति का सामना करने के लिए पूरे भारतवासी भी तैयार है। हमारी एकता ही हमारी पहचान है और हमारी ताकत भी है। इस बहिष्कार से चीन भी अब आगे कोई दूसरा कदम उठाने के पहले एक बार जरूर सोचेगा।

क्यों अब तक 224 चीनी ऐप हुआ बैन?

जुन से ही लागातार कुल 224 चीनी ऐप को भारत सरकार बैन कर चुकी है। ऐपो के बैन करने का कारण है, भारतीयों के डाटा और प्राइवेसी के साथ छेड़छाड़ बढ़ता ही जा रहा है। इससे जुड़ी बहुत शिकायत दर्ज की गई। इन्हीं सभी बात को मध्य नज़र रखते हुए, भारत सरकार ने चीनी ऐप को बैन करने का निर्णय लिया।ऐप को बैन करने का निर्णय के पीछे भारतीय साइबर स्पेस की सुरक्षा अहम है, साथ ही साथ सुरक्षा और संप्रभुता को सुनिश्चित करने के लिए इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय इस महत्वपूर्ण कदम को उठाया है। मंत्रालय ने खुद इस बात की पुष्टि मीडिया ने इस बुधवार को किया है।

जरूर पढ़ें:  अब तक की सबसे बड़ी ट्विटर हैकिंग: महान हस्तियों की ट्विटर अकाउंट हुई हैक

चीनी ऐप के बैन होने का चीन पर क्या प्रभाव पड़ा?

भारत सरकार के द्वारा उठाए गए इस कदम से चीन के कई गेम और आईटी कंपनियों को भारी नुक्सान पहुंचा है। TikTok और PUBG जैसे भारत में लोकप्रिय ऐप का यूजर बहुत ही तेज़ी से घट जाने से इसके parents कंपनी को हजार करोड़ का घाटा सहना पड़ रहा है।

भारत में इसका क्या प्रभाव पड़ा?

कहीं न कहीं भारतीय ऐप यूजर के लिए भी एक बहुत ही बड़ा झटका से कम नहीं है। कई आईटी कंपनियों के लिए एक सुनहरा मौका मिल गया है। ऐसी बहुत सी भारतीय कंपनीयों को इस अवसर के द्वारा भारत में नई ऐप को बनाने को मिलेगा और इससे इस कंपनी को बहुत मुनाफा होगा और हमारे देश की इससे आर्थिक सहायता मिलेगी। इस तरह प्रधानमंत्री मोदी के द्वारा launch किए गए आत्म निर्भर योजना को बढ़ावा मिलेगा ।उदाहरण के तौर पर pubg जैसे गेम ऐप के मिलती-जुलती FAU-G गेम को ncore भारतीय कंपनी अक्टूबर तक launch करने वाली है। Chingari, Mitron, Roposo, Moj और कई अन्य ऐप हैं, जिन्होंने टिकटॉक को बदल दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here